सत्य को खोजने वाले सभी लोगों का हम से सम्पर्क करने का स्वागत करते हैं

परमेश्वर की सृष्टि को उसके अधिकार का पालन करना चाहिये

परमेश्वर के वचनों का एक भजन परमेश्वर की सृष्टि को उसके अधिकार का पालन करना चाहिये प्रचंड आग है परमेश्वर जो नहीं करता अपराध सहन। दख़लंदाज़ी करे या आलोचना करे उसके काम और वचन की,ये हक नहीं है इंसान को,चूँकि उसने बनाया है इंसान को,उनका पालन करना चाहिये इंसान को,इंसान को। परमेश्वर प्रभु है,सृजन का प्रभु है,अपने लोगों पर शासन करने,प्रयोग में लाता है अपने अधिकार को। हर प्राणी को इसका पालन करना चाहिये,वो जो कहता है उसे श्रद्धा से करना चाहिये,कोई तर्क या विरोध नहीं करना चाहिये। हालाँकि निर्लज्ज हो,ढीठ हो तुम,नाफ़रमानी करते हो परमेश्वर के वचनों की तुम लोग,तुम्हारी विद्रोहशीलता को सहता है वो,मल में कुलबुलाते भुनगों से बेपरवाह,काबू में रखकर अपने क्रोध को,काम करता रहेगा वो,काम करता रहेगा वो। परमेश्वर की इच्छा की ख़ातिर अपने कथनों की पूर्णता तक,अपने आख़िरी पल तक,उन चीज़ों को सहता है,जिनसे नफ़रत करता है परमेश्वर। परमेश्वर प्रभु है,सृजन का प्रभु है,अपने लोगों पर शासन करने,प्रयोग में लाता है अपने अधिकार को। हर प्राणी को इसका पालन करना चाहिये,वो जो कहता है उसे श्रद्धा से करना चाहिये,कोई तर्क या विरोध नहीं करना चाहिये,नहीं करना चाहिये,नहीं करना चाहिये। "वचन देह में प्रकट होता है" से

राज्य के नए गीत
परमेश्वर के वचन के भजन
कलीसिया के भजन
सबसे नए भजन
भजन-एलबम्स
परमेश्वर को जानना
परमेश्वर के लिए गवाही
परमेश्वर की प्रशंसा करना
सुसमाचार की गवाहियां
जीवन के अनुभव
मनोदशाएं
शास्त्रीय
पॉप
रॉक
सुसमाचार
देशीय
लोक
विश्व
ए कैप्पेला
समूहगान
अन्य

अभी यहाँ कुछ नहीं हैI एक जोड़ें अभी!

खोज के परिणाम

    विषय
    शांत
    स्फूर्तिदायक
    जोशपूर्ण
    निर्मल
    सम्मानित
    प्रसन्न
    फॉन्ट का आकार
    विषय
    डाउनलोड
    App Store

    इस मुफ्त ऐप को डाउनलोड करें जो बोल धुन के साथ मिला सकता है, जिससे गाना सीखना आसान हो जाता है!

    साझा करें

    ब्राउज